Saharsa

सहरसा: बेटियों की पूरी जिम्मेदारी लेगी ये संस्था, 31 जुलाई को होगा शुभारंभ

विवेकानंद शिक्षा जागृति युवा मंच द्वारा एक बहुत ही अनोखी पहल “बेटी- एक वरदान” शुरू किया जा रहा है. जो समाज की बेटियों के लिए एक आशा की किरण के रूप में प्रज्वलित होगा. जो अभिभावक बेटियों को अभिशाप समझते हैं उनके के लिए इस मिशन को वरदान साबित करने को लेकर इस संस्था के सभी सदस्य प्रतिबद्ध हैं.

“बेटी – एक वरदान” मिशन को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है. इस मिशन के अंतर्गत 21 ऐसे बेटियों को चुना जाएगा जिनका परिवार आर्थिक रूप से बहुत कमजोर है, जो अपने बच्चे को भोजन, वस्त्र, शिक्षा देने में असमर्थ हैं. उन परिवारों की बेटियों को शैक्षिक रूप से सशक्त कर देने की जिम्मेवारी इस संस्था की होगी.

इस पुनीत कार्य का शुभारम्भ 31-07-2020 को किया जाना सुनिश्चित हुआ है. इस मिशन के अंतर्गत ऐसी बेटियों को भी सम्मानित किया जाना है जो शैक्षिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनैतिक, खेल या अन्य किसी भी क्षेत्र में शून्य स्तर से उठकर आज अपना परचम लहरा रही है. संस्था ने इसे पूरा करने के लिए समाज के सभी वर्गों के सहयोग की अपील की है. साथ ही इस मिशन में जुड़ने के लिए संस्था के द्वारा फेसबुक ग्रुप भी जारी किया गया है: V.S.J.YUVA MANCH, PAHLAM, S.B.PUR, SAHARSA , BIHAR. इस कार्य में “सहरसा ग्रुप” जो कि एक चर्चित फेसबुक ग्रुप है, वह भी सहयोग कर रही है.

संस्था द्वारा हर वर्ग के लोगों से यह अपील की गई है कि बेटियों के संरक्षण, संवर्धन व उनकी अस्मिता की रक्षा के लिए एकजुट हो. इस मिशन की शुरुआत 21 बेटियों के लिए जागरूकता अभियान शुरू कर की जाएगी ताकि हर माँ बेटी के जन्म पर उसे अभिशाप नहीं बल्कि वरदान समझे.

इस कार्य को अंजाम तक पहुँचाने के लिए संस्था विशेष तौर पर कोशी क्षेत्र में अपनी अग्रणी भूमिका निभा रही महिलाओं एवं युवा, उद्यमियों को आगे आने की अपील की है.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close